समय चक्र

शनिवार, 2 जुलाई 2011


                     जय दिल्ली वाली की....



क्या समझेंगे आप देश की इस उलटबांसी से !!
लटक गयी है दिल्ली वाली उसे बचाने फांसी से !!
जिसने कुत्सित हथकंडो से भारत को बर्बाद किया,
इटली वाली उसको पूजे सोने-चांदी-कांसी से !!

अफजल को फांसी का मुहूर्त जाने किस दिन आएगा !
और कसाब हमारी रोटियां अभी कितने दिन खायेगा!!
आतंकी सूबों के मन में फिर मयूरा नाचा है!
जेलों में गुंडों की खातिर अपने मुंह पे तमाचा है!!

दिल्ली वाले कुम्भकरणों की नींद खुलेगी किस पल में !
कब तक राजनीति देखेंगे हर समस्या के हल में!!
हिम्मत रख कर देश बचा लो शातिर हथकंडे से!!
लटका दो कातिलों को तत्क्षण फांसी के फंदे से!!

4 टिप्‍पणियां:

  1. I disagree with the thoughts.. खून का बदला खून कबीलाई ख्याल है... कसाब के खिलाफ केस चल रहा है.. और वो अकेला नहीं है ऐसे कई है... इन्साफ selective नहीं हो सकता...

    उत्तर देंहटाएं
  2. क्या आप ब्लॉगप्रहरी के नये स्वरूप से परिचित है.हिंदी ब्लॉगजगत से सेवार्थ हमने ब्लॉगप्रहरी के रूप में एक बेमिशाल एग्रीगेटर आपके सामने रखा है. यह एग्रीगेटर अपने पूर्वजों और वर्तमान में सक्रिय सभी साथी एग्रीगेटरों से कई गुणा सुविधाजनक और आकर्षक है.

    इसे आप हिंदी ब्लॉगर को केंद्र में रखकर बनाया गया एक संपूर्ण एग्रीगेटर कह सकते हैं. मात्र एग्रीगेटर ही नहीं, यह आपके फेसबुक और ट्वीटर की चुनिन्दा सेवाओं को भी समेटे हुए है. हमारा मकसद इसे .सर्वगुण संपन्न बनाना था. और सबसे अहम बात की आप यहाँ मित्र बनाने, चैट करने, ग्रुप निर्माण करने, आकर्षक प्रोफाइल पेज ( जो दावे के साथ, अंतरजाल पर आपके लिए सबसे आकर्षक और सुविधाजनक प्रोफाइल पन्ना है), प्राइवेट चैट, फौलोवर बनाने-बनने, पसंद-नापसंद..के अलावा अपने फेसबुक के खाते हो ब्लॉगप्रहरी से ही अपडेट करने की आश्चर्यजनक सुविधाएं पाते हैं.

    सबसे अहम बात , कि यह पूर्ण लोकतान्त्रिक तरीके से कार्य करता है, जहाँ विशिष्ट कोई भी नहीं. :)

    कृपया पधारें.. और एक एग्रीगेटर. माइक्रो ब्लॉग जैसे ट्वीटर और सोशल नेट्वर्क..सभी की सुविधा एक जगह प्राप्त करें .. हिंदी ब्लॉग्गिंग को पुनः लयबद्ध करें.
    http://blogprahari.com
    टीम ब्लॉगप्रहरी

    उत्तर देंहटाएं
  3. योगेश जी , मैं आप से पूरी तरह सहमत हूँ , कातिलों की सजा मौत से कम कुछ भी नहीं होनी चाहिए . यह आक्रोश बरकरार रखिये , आभार

    उत्तर देंहटाएं
  4. @ranjan....ho sakta hai mai bhi aapke vicharo se sahmat na hou..par aapke vichar prakat karne ke adhikar ka me samarthak sada hu....

    @k.kashyap...thanks for such a useful informations

    @shukla ji.....sirG utsah badhane ka aabhar...

    उत्तर देंहटाएं